गुलज़ार साहब शायरी

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Quotes

फिर तुझे कोई और गवारा कैसे हुआ,

मुझे तो नहीं हुआ तुझे ये इश्क़ दोबारा कैसे हुआ।

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Quotes

अपनों से ही सीखा है,

कोई अपना नहीं होता!

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Quotes

लफ्ज तो खामोश हो गए तुमसे बात करते-करते,

अब आंसुओं को जिद है तुमसे बात करने की …! 👫

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Quotes

क्या बताऊं उसकी बाते कितनी मीठी है,

सामने बैठ कर फीकी चाय पीता रहता हूं….

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Quotes
gulzar nazm

तोड़ेंगे गुरूर इश्क़ का इस कदर सुधर जाएंगे,

खड़ी रहेगी मोहब्बत रास्ते में हम सामने से गुजर जायेंगे!

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Quotes

मिजाज में थोड़ी सख्ती जरूरी है जनाब,

लोग पी जाते अगर समुंदर खारा ना होता!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here