गुलज़ार साहब शायरी

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Sahab Quotes

तमाशा करती है मेरी जिंदगी,

गजब ये है कि तालियां अपने बजाते हैं!

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Sahab Quotes

मजबूरिया ओढ़ के निकलता हूं  घर से आजकल ,

वरना शौक तो आज भी है बारिशों में भीगनें का …..

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Sahab Quotes

तकिये पर अश्क़ देख कर सवाल सौ उठे…

हँसकर हमने कह दिया ख्वाबों के दाग हैं….

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Sahab Quotes

कुछ इस तरह खूबसूरत रिश्ते टूट जाया करते हैं,

दिल भर जाता है तो लोग रूठ जाया करते हैं….!

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Sahab Quotes

वफा की उम्मीद ना करो उन लोगों से,

जो मिलते हैं किसी और से  होते है किसी और के…..!

Gulzar sahab Quotes, New Hindi Shayari
Gulzar Sahab Quotes

अपने वजूद पर इतना मत इतरा ऐ जिंदगी,

वो तो मौत है जो तुझे मोहलत दिए जा रही है….!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here