Chanakya Niti Quotes

Chanakya niti quotes, New Hindi Shayari
Chanakya Niti E0A49AE0A4BEE0A4A3E0A495E0A58DE0A4AF E0A4A8E0A580E0A4A4E0A4BF

Chanakya niti quotes : आचार्य चाणक्य द्वारा कही गयी हर बात आज के समय में सही साबित है अगर आप  को यकीन ना आये आप आजमा सकते हैं आचार्य निति मानव जीवन के कल्याण के लिए बनाई हैं आचार्य चाणक्‍य की नीतियों में संपूर्ण जीवन का सार मिलता है। चाणक्य की नीतियां ध्यान रखेंगे तो कई परेशानियों से बच सकते हैं |

Chanakya niti quotes In Hindi

अति सुंदर होने के कारण सीता का हरण हुआ, अत्यंत अहंकार के कारण रावण मारा गया, अत्यधिक दान के कारण राजा बलि बांधा गया। अतः सभी के लिए अति ठीक नहीं है। ‘अति सर्वथा वर्जयते।’ अति को सदैव छोड़ देना चाहिए।  – चाणक्य नीति

Chanakya niti quotes, New Hindi Shayari

समर्थ को भार कैसा ? व्यवसायी के लिए कोई स्थान दूर क्या ? विद्वान के लिए विदेश कैसा? मधुर वचन बोलने वाले का शत्रु कौन ?  – चाणक्य नीति

Chanakya niti quotes, New Hindi Shayari

एक ही सुगन्धित फूल वाले वृक्ष से जिस प्रकार सारा वन सुगन्धित हो जाता है, उसी प्रकार एक सुपुत्र से सारा कुल सुशोभित हो जाता है।  – चाणक्य नीति

Chanakya niti quotes, New Hindi Shayari

आग से जलते हुए सूखे वृक्ष से सारा वन जल जाता है जैसे की एक नालायक (कुपुत्र) लड़के से कुल का नाश होता है।  – चाणक्य नीति

Chanakya niti quotes, New Hindi Shayari

Chanakya niti quotes In hindi pdf

जिस प्रकार चन्द्रमा से रात्रि की शोभा होती है, उसी प्रकार एक सुपुत्र, अर्थात साधु प्रकृति वाले पुत्र से कुल आनन्दित होता है।  – चाणक्य नीति

Chanakya niti quotes, New Hindi Shayari

शौक और दुःख देने वाले बहुत से पुत्रों को पैदा करने से क्या लाभ है ? कुल को आश्रय देने वाला तो एक पुत्र ही सबसे अच्छा होता है।  – चाणक्य नीति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here